Home    

बीजली के दाम नहीं बढेंगे - प्रफुल पटेल

प्रशासक प्रफुल पटेल के मार्गदर्शन में दमण-दीव विद्युत विभाग का बेहतर प्रदर्शन जारी
दमण-दीव के नागरिकों के उपयोगवाली बिजली के इस वर्ष भी नहीं बढें दाम : उद्योगों को दमण में रोके रखने के लिए भी बिजली के दामों में दी गई राहत
- पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी घरेलू बिजली के दाम 0 से 100 यूनिट तक 1.10 रुपये: 101 से 200 यूनिट तक 1.60 रुपये: 201 से 400 यूनिट तक 1.95 रुपये: 401 यूनिट से और उसे उपर 2.30 रुपये - कॉमर्शियल 100 यूनिट तक 2.40 रुपये: 101 और उससे उपर 3.25 रुपये - एलटी इंडस्ट्रीज पर 10 पैसा घटाया गया, एचटी और एचटी फेरो पर औसत दाम 45 पैसे घटाये गये - कृषि के लिए सिर्फ 90 पैसा प्रति यूनिट का टैरिफ मंजूर - दमण-दीव विद्युत विभाग की अच्छी वित्तीय स्थिति के कारण जनता को लगातार इस वर्ष भी मिली है राहत
दमण 13 मार्च। प्रशासक प्रफुल पटेल के सीधे मार्गदर्शन में दमण-दीव विद्युत विभाग ने इस वर्ष भी बेहतर प्रदर्शन करते हुए एक तरफ नागरिकों के इस्तेमाल वाली बिजली दरों में एक पैसे की भी बढोत्तरी नहीं की गयी है। दूसरी ओर दमण की रीढ की हड्डी समान उद्योगों को दमण में रोके रखने के लिए उद्योग जगत के इस्तेमाल वाली बिजली में औसत दाम 45 पैसे की कटौती की गयी है। दमण-दीव विद्युत विभाग की अच्छी वित्तीय स्थिति एवं मुनाफे के चलते जेईआरसी ने नागरिकों को राहत देने वाले टैरिफ प्लान को मंजूर किया है। 2018-19 के लिए घरेलू बिजली के दाम 0 से 100 यूनिट तक 1.10 रुपये, 101 से 200 यूनिट तक 1.60 रुपये, 201 से 400 यूनिट तक 1.95 रुपये, 401 यूनिट से और उससे उपर 2.30 रुपये, कॉमर्शियल 100 यूनिट तक 2.40 रुपये, 101 और उसे उपर 3.25 रुपये तथा एलटी इंडस्ट्रीज में 10 पैसा और एचटी इंडस्ट्रीज में औसतन 45 पैसे की कटौती के बाद उन्हें बिजली 3 रुपये से लेकर 3.50 रुपये तक मिलेगी। कृषि के लिए सिर्फ 90 पैसा प्रति यूनिट को भी मंजूरी मिल गयी है। कुल मिलाकर देखे तो दमण-दीव विद्युत विभाग ने न सिर्फ इस वर्ष दमण-दीव की जनता को बिजली के दामों में राहत दी है बल्कि उद्योगों को भी कुछ राहत देकर उन्हें दमण की धरती पर रोके रखने का सफल प्रयास किया है। गौरतलब है कि दमण-दीव विद्युत विभाग को प्रशासक प्रफुल पटेल सीधा मार्गदर्शन देते है। दमण-दीव की भविष्य की बिजली जरुरतों को ध्यान में रखते हुए जरुरी इंफ्रास्ट्रक्चर एवं आधुनिक तकनीक के लिए भी जरुरी दिशानिर्देश देते रहते है। पिछले दो वर्षांे मंे दमण-दीव की जनता को न सिर्फ पूरे देश के सभी राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों से सस्ती बिजली मिल रही है। एक पैसे की भी बढोत्तरी नहीं हो रही है। इस वर्ष तो उद्योगों को दमण में बनाये रखने के लिए कुछ पैसे की कमी कर राहत भी दी गयी है। दीव में तो सोलर प्रोजेक्ट के कारण आनेवाले वषार्ें में जनता को और ज्यादा फायदा मिलता रहेगा। लेकिन अब दमण के लिए भी सोलर प्रोजेक्ट के लिए गंभीरता से सोचने की जरुरत है। अगर दमण में भी सोलर प्रोजेक्ट हो गया तो बिजली के दामों में और ज्यादा राहत विद्युत विभाग दे सकेगा जो नागरिकों, व्यापारियों और उद्योगजगत के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा।
------
बॉक्स
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के डिजिटल इंडिया और कैशलेस के सपने को दमण-दीव विद्युत विभाग ने शत प्रतिशत पूरा कर 24x7 बिजली के साथ-साथ जनता को दी है सुविधा
प्रधानमंत्री नरेन्द्रभाई मोदी के डिजिटल इंडिया एवं कैशलेस के सपने को प्रशासक प्रफुल पटेल के मार्गदर्शन में दमण-दीव विद्युत विभाग ने पूरा किया है। आज यह कटु सत्य है कि पूरे देश से सबसे सस्ती बिजली और किसी भी प्रकार की रुकावट के बिना 24x7 बिजली नागरिकों, व्यापारियों और उद्योगजगत को मिल रही है। दमण-दीव में किसी भी व्यक्ति को बिजली का कनेक्शन लेना हो या बिजली का बिल जमा करना हो उसे विभाग का चक्कर नहीं काटना पडता है। नये कनेक्शन के लिए पूरी प्रक्रिया ऑनलाईन है। इसी तरह बिजली बिल का भुगतान भी मोबाइल एप, वेबसाइट से सीधा ही किया जा सकता है। डिजिटल और कैशलेस का समन्वय ने दमण-दीव विद्युत विभाग को पूरे देश में प्रेरणा लेने के लिए मजबूर किया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्रभाई मोदी ने कई बार सार्वजनिक मंच से दमण-दीव विद्युत विभाग की तारिफ की है।
--------


Comments